हम भी दरअसल किसी दूसरे ग्रह के मूल निवासी है

पृथ्वी ने निगल लिया था कोई प्राणवंत ग्रह इसी चक्कर में उत्पन्न हुआ है चंद्रमा उसी ग्रह का जीवन पृथ्वी …